TOPIC: Dhingra Foundation- Hindi Chetna International...

Dhingra Foundation- Hindi Chetna International... 1 year 9 months ago #27464

Dhingra Family Foundation- Hindi Chetna International Hindi Literature Awards


Dhingra Family Foundation (USA) & Hindi Chetna (Canada) awarded international literary awards 
to Usha Priamvada (USA), Chitra Mudgal (New Delhi) & Dr. Gyan Chaturvedi (Bhopal) in Morrisville, North Carolina, USA. 



The award ceremony was held on August 30, 2015 at the Hindu Society North Carolina Cultural Hall. The awards ere given by the Mayer of Morrisville, Mark Stohlman. Council members Steve Rao and Vicki Scroggins-Johnson also joined in the celebrations. Mr Hari Nath, a well respected statesman, read the proclamations from Governor of North Carolina, Pat McCrory, and Congressman George Holding and handed over the certificates to the awarded writers. Dhingra Foundation also started an educational award this year in Memory of Mr. Alok Sharma. The award will be given every year to a bright and needy college student. Steve Rao talked about Alok’s passion for helping needy students to pursue higher studies and how this award will continue his legacy. Steve Rao gave the award to this year’s recipient, Bhavna Singh

The award to Usha Priyamvada (USA) is for her overall contributions to Hindi literature; to Chitra Mudgal (India) for her story collection "Painting Akeli Hain"( Samyik Prakshan ); to Dr. Gyan Chaturvedi (India) for his Novel "Hum Na Marab" (Rajkamal Prakashan).

Usha Pryiamvada has been honoured with Premchand Samman and Dr. Maturi Satanaryan Puruskar. She is a pillar of of Hindi Literature. She has written eight story books and six novels. Chitra Mudgal , has been previously honoured by Vyas Samman, Indu Katha Samman , Sahitya Bhushan books honored by Vyas Samman, Indu Sharma Katha Samman, Sahitya Bhushan, and Veer Singh Dev Samman. She has written three novels and twelve story books. Her story book, 'Painting Akeli Hain', selected for the award is her latest and is published by Samayik Prakshan. Dr. Gyan Chaturvedi, is a heart specialist by profession, and is recipient of Padamshree, Rashtriya Sharad Joshi Samman, Indu Sharma Katha Samman, Yash Bharti Samman and many other awards. Dr. Gyan Chaturvedi has written two story books, four novels and two Vayang Sangrah. He is being honored for his novel, 'Hum Na Marab' 'published by Rajkamal. It is to be noted that Dhingra Family Foundation – Hindi Chetna International Literature awards were started in 2014 and the awardees were Mahesh Katare, Sudershan Priyadarshani,and Harishankar Aadesh. The award ceremony was held in Toronto, Canada.

Dhingra Family Foundation (USA)'s aim is to support advancement of Hindi language, education of underprivileged children, literature and Health related Institutions so that youth in villages and slum areas have opportunities to learn and stay healthy. Another important objective of the Foundation is to recognize the high quality literature and the creative writers of the Hindi Language.


ढींगरा फ़ाउण्डेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मान
रिपोर्ट- नीलाक्षी फुकन, एन सी स्टेट यूनिवर्सिटी, नॉर्थ कैरोलाइना।

‘ढींगरा फ़ाउण्डेशन -अमेरिका’ ने, मोर्रिस्विल्‍ल शहर के हिन्‍दू भवन
कल्‍चरल हॉल में आयोजित एक भव्‍य समारोह में वर्ष 2014 हेतु ‘ढींगरा
फ़ाउण्डेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मान’ प्रदान किए। समारोह
में समग्र साहित्यिक अवदान हेतु उषा प्रियंवदा ( अमेरिका) को, कहानी संग्रह-
‘पेंटिंग अकेली है’ हेतु चित्रा मुदगल ( भारत ) को, उपन्यास-‘हम न मरब’ हेतु
डॉ. ज्ञान चतुर्वेदी ( भारत ) को सम्‍मानित किया गया। सम्‍मान के अंतर्गत
तीनों रचनाकारों को शॉल, श्रीफल, सम्मान पत्र, स्मृति चिह्न, प्रत्येक को पाँच
सौ डॉलर (लगभग 31 हज़ार रुपये) की सम्मान राशि, प्रदान की गई।

तीनों रचनाकारों को ढींगरा फ़ाउण्डेशन के अध्‍यक्ष डॉ.ओम ढींगरा, हिन्‍दी
प्रचारिणी सभा कैनेडा के संरक्षक श्‍याम त्रिपाठी, मोर्रिस्विल्‍ल शहर के मेयर
मार्क स्‍टोलमेन, काउंसलर विक्‍की जानसन, भारत से आए लघुकथाकार, कहानीकार
सुकेश साहनी ने यह सम्‍मान प्रदान किए। तीनों सम्‍मानित रचनाकारों को नार्थ
कैरोलाइना के गवर्नर पैट मेकरोरी, मेयर मार्क स्‍टोलमेन तथा मेम्‍बर ऑफ
कांग्रेस जार्ज होल्डिंग की ओर से भी विशेष रूप से प्रशस्ति पत्र प्रदान किये
गए। गवर्नर पैट मेकरोरी और मेम्‍बर ऑफ कांग्रेस जार्ज होल्डिंग की ओर से ये
प्रशस्ति पत्र स्थानीय समाज सेवी एवं नायक हरिनाथ माथुर ने तीनों रचनाकारों को
दिए। साहित्‍यकार पंकज सुबीर को मोर्रिस्विल्‍ल शहर की ओर से मेयर मार्क
स्‍टोलमेन ने हिन्‍दी सेवा के लिए सम्‍मान पत्र प्रदान किया।

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ अमेरिका तथा भारत के राष्‍ट्रगान से
हुआ; जिन्हें दो विद्यार्थियों ने प्रस्तुत किया। प्रार्थना के गायन के साथ वॉयलिन
पर संगती दी दीक्षा ने। कुबी बाबू द्वारा कुचिपुड़ी नृत्‍य प्रस्‍तुत किया
गया। ‘ढींगरा फ़ाउण्डेशन -अमेरिका’ ने स्थानीय युवा नेता अलोक शर्मा की याद में
अलोक शर्मा मेमोरियल सम्मान शुरू किया। अमेरिका के मोर्रिस्विल्‍ल शहर के अलोक
शर्मा युवा पीढ़ी की शिक्षा को लेकर बहुत सतर्क थे और समय -समय पर कम सामर्थवान
बच्चों की आर्थिक सहायता भी करते रहते थे। विद्यार्थी भावना सिंह की सहायता
करने की, अलोक शर्मा की हार्दिक इच्छा थी। जिसकी जानकारी सुभाषिनी उनकी पत्नी
ने ढींगरा फ़ाउण्डेशन को दी, जब उन्हें अलोक शर्मा मेमोरियल सम्मान के लिए किसी
विद्यार्थी का नाम देने के लिए निवेदन किया गया। भावना सिंह एक प्रतिभा संपन्न
विद्यार्थी है। $1000 की सम्मान राशि उसकी आगे की शिक्षा के लिए दी गई है।

इस अवसर पर बोलते हुए डॉ. ज्ञान चतुर्वेदी ने कहा कि विदेशों में रह कर
हिन्‍दी की सेवा जो प्रवासी भारतीय कर रहे हैं; वह बहुत प्रशंसनीय है। चित्रा
मुदगल ने अपने संबोधन में कहा कि हिन्‍दी को लेकर; जो उत्‍साह यहाँ नज़र आ रहा
है वह सुखद है। उषा प्रियंवदा ने अपने संबोधन में कहा कि हिन्‍दी ने भारत की
सीमा के बाहर आकर जो स्‍थान बनाया है; उसका ही प्रमाण है यह कार्यक्रम।

कार्यक्रम के अगले चरण में आयोजित रचना पाठ सत्र में डॉ. ज्ञान
चतुर्वेदी अभिनव शुक्‍ल तथा पंकज सुबीर ने अपनी रचनाओं का पाठ किया। प्रथम
सत्र का आरम्भ स्वाति गिरगिलानी ने किया और सम्मान समारोह का संचालन पंकज
सुबीर ने किया। दूसरे सत्र का संचालन प्रवासी कवि अभिनव शुक्‍ल ने किया। डॉ.
ज्ञान चतुर्वेदी द्वारा किए गए व्‍यंग्‍य पाठ को श्रोताओं ने बहुत सराहा।
कार्यक्रम में बड़ी संख्‍या में भारतीय हिन्‍दी प्रेमी श्रोता- गण उप‍स्थित
थे। अंत में आभार दिल्ली विश्वविद्यायल के प्रोफ़ेसर और ढींगरा फ़ाउण्डेशन से
जुड़े डॉ. प्रमोद शर्मा ने व्‍यक्‍त किया। हिन्दी चेतना के मुख्य संपादक श्याम
त्रिपाठी और संपादक सुधा ओम ढींगरा ने उपन्यासकार, कहानीकार पंकज सुबीर को
उनके योगदान के लिए सम्मानित किया।





























  • aruna.n
  • aruna.n's Avatar
  • Offline
The administrator has disabled public write access.
Time to create page: 0.096 seconds